रचना चोरों की शामत

Monday, 5 June 2017

भोली बिटिया

प्यारी बिटिया के लिए चित्र परिणाम
मेरी प्यारी भोली बिटिया। 
घर भर की हमजोली बिटिया। 

चहक चमन की, महक सदन की
कोयलिया की बोली बिटिया।

पर्वों को जीवंत बनाती
आँगन सजा रँगोली बिटिया।

लँगड़ी, टप्पा, खो-खो, रस्सी
खेल-खेल की टोली बिटिया।

गली-मुहल्ले बाँटा करती
झर-झर हँसी-ठिठोली बिटिया।

देव-दैव्य से माँग दुआएँ
ले आती भर झोली बिटिया।

कड़ुवाहट का नाम न लेती
खट-मिट्ठी सी गोली बिटिया।

नाज़ कल्पनाहर उस घर को
जिस घर माँ! पा! बोली बिटिया। 

- कल्पना रामानी

बेटी बचाएँ

 संबंधित चित्र
ज़मीं से उठाकर फ़लक पर बिठाएँ। 
अहम लक्ष्य हो, आज बेटी बचाएँ।

जहाँ घर-चमन में, चहकती है बेटी
बहा करतीं उस घर, महकती हवाएँ।

क़तल बेटियाँ कर, जनम से ही पहले
धरा को न खुद ही, रसातल दिखाएँ।  

बहन-बेटी होती सदा पूजिता है
सपूतों को अपने, सबक यह सिखाएँ। 

पढ़ाती जो सद्भाव का पाठ जग को
उसे बंधु! बेटे बराबर पढ़ाएँ।

न हो जननियों, अब सुता-भ्रूण हत्या
वचन देके खुद को अडिग हो निभाएँ।   

है सच कल्पनाबेटी बेटों से बढ़कर
कि अब भेद का भूत, भव से भगाएँ। 

- कल्पना रामानी

इस जनम में अब नहीं

 प्यारी बिटिया के लिए चित्र परिणाम
इस जनम में अब नहीं अपमान अपना मैं सहूँगी।
पीर से वर माँग, अपनी गोद, बेटी से भरूँगी।

कस शिकंजा ज़ालिमों के कत्ल का ऐलान होगा
लाड़ली! लेकिन तुम्हें क़ातिल हवा लगने न दूँगी

सुन जिसे पापी-पतित पछताएँ, अपना पीट लें सिर
लेखनी में भर लहू, ऐसी गज़ल हर दिन कहूँगी।

दामिनी’ ‘निर्भयाभयमुक्त हों ज्यों दानवों से 
सिर उठा, संकल्प कर, कानून वो लागू करूँगी। 

चाहे क्यों ना काल मुझको ही गले अपने लगा ले
कल्पनापर मौत, बेटी! गर्भ में तुमको न दूँगी। 

- कल्पना रामानी

धरती हुई निहाल

संबंधित चित्र
धरती हुई निहाल, बधाई दी अंबर ने। 
जब हर नारी लगी गोद बेटी से भरने।

कन्या भ्रूण विसर्जित होने कभी न देगी
कृत संकल्प हुई जननी, अब रक्षित करने।

क्रूर-काल ने भी ठाना है, आएगा वो
प्राण पुत्रियों के न जन्म से पहले हरने।

गज़लें करने लगीं बेटियों पर ही शायरी
कलम चली बिटिया को कविता अर्पित करने

किया समर्थन समंदरों ने, ज्वार बढ़ाकर 
नदियों ने दी ताल, गा उठे पर्वत-झरने

देख हवा के बदले रुख को, विस्मित होकर  
झुका लिया है सिर नारी के, आगे नर ने  

मानो रे इंसान! बाँझ है भू, बेटी बिन
रची कल्पनासृष्टि सोचकर ही ईश्वर ने  

- कल्पना रामानी

समर्थक

मेरी मित्र मंडली

सम्मान पत्र

सम्मान पत्र

सम्मान पत्र

सम्मान पत्र